Current Affairs

15 july 2023

EU संसद का मणिपुर पर संकल्प

प्रधानमंत्री जब फ्रांस की जुलाई यात्रा पर थे उसी समय EU संसद ने फ्रांस के ही एक अन्य शहर से भारत को मणिपुर मुद्दे पर उत्तर्दयित्वापूर्ण तरीके से वयवहार करने को कहा एवं धार्मिक अल्पसंख्यक हेतु रक्षा करने की भी बात कही।

भारत की प्रतिक्रिया
भारत ने इसे औपनेशिक मानसकिता युक्त बयान बताया एवं इसे भारत की आंतरिक मामले में हस्तछेप भी।
अन्य बिंदू
EU का यह प्रस्ताव मणिपुर मामले को सम्पूर्णता में समझने में भी असमर्थ है क्योंकि यहाँ मामला किसी एक धार्मिक अल्पसंख्यक समुदाय की नहीं है। ईसाई के सामान ही वहां हिन्दुओ के धार्मिक प्लेस पर भी हमला किया गया है।

मणिपुर में क्यों हिंसा शुरू हुई? 
मणिपुर में में भड़की हिंसा में 100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य में अनुसूचित जनजाति (एसटी) का दर्जा देने की मेइती समुदाय की मांग के विरोध में तीन मई को पर्वतीय जिलों में ‘आदिवासी एकजुटता मार्च’ के आयोजन के बाद झड़पें शुरू हुई थीं.

मणिपुर की 53 प्रतिशत आबादी मेइती समुदाय की है और यह मुख्य रूप से इंफाल घाटी में रहती है. वहीं, नगा और कुकी जैसे आदिवासी समुदायों की आबादी 40 प्रतिशत है और यह मुख्यत: पर्वतीय जिलों में रहती है. (refrence image)